नई दिल्ली। परिधि आर्ट ग्रुप के 25 वर्ष पूरे होने परपरिधि एचीवर्स अवार्ड का आयोजन किया गया। भारत रत्न पंडित भीमसेन जोशी को समर्पित इस आयोजन में राजस्थानी लोक गीतों, कथक-नृत्य, नाटक व सूफी गायन की प्रस्तुतियां हुई।
समारोह में अरविंद केजरीवाल को सूचना का अधिकार जैसी व्यस्था को देश भर में स्थापित करने के लिए देश के नाम अवार्ड दिया गया। किरन बेदी को उपेक्षित महिलाओं के उत्थान के लिए किये गए उनके प्रयासों के लिए सम्मानित किया गया। इस अवसर पर विश्व शांति अभियान के सूत्रधार महामंडलेश्वर श्री श्री सोहम बाबा , लोकप्रिय टीवी व फिल्म अभिनेत्री जोयश्री अरोड़ा, फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्युट ऑफ इंडिया के निदेशक व कवि- साहित्यकार पंकज राग, वरिष्ठ आईएस अधिकारी व लेखिका लीना महेंडले, कवयित्री सविता सिंह, प्रवासी भारतीय संस्कृतिकर्मी धनंजय कुमार, कवि-साहित्यकार लक्ष्मी शंकर वाजपेयी, सूफी कथक नृत्यांगना मंजरी चतुर्वेदी, प्रसिद्ध चित्रकार कृष्ण कन्हाई, समाजसेवी ग्रेस अशोक ठक्कर, मूर्तिकार सुशील सखूजा, यंग एचीवर सुशील बदरवाल, पवन कौशिक व पवन कार्टूनिस्ट को कला, संस्कृति, साहित्य व समाज में अपने विशिष्ट योगदान के लिए परिधि आर्ट ग्रुप द्वारा सम्मानित किया गया।
समारोह में युवा नृत्यांगना अरूषी निशंक द्वारा शिवस्तुति पर आधारित नृत्य की प्रस्तुति हुई तो दूसरी तरफ बालीवुड का लोकप्रिय युवा गायक ऐश्वर्य निगम ने अपने गीतों से कार्यक्रम में समां बांध दी। अकबर-आजम द्वारा लिखित व निर्देशित नाटक फ्यूचर बाजारने आने वाले समय की एक झलक उपस्थित की तो दूसरी तरफ अरविंद गौड़ के नाटक ‘इंटरफेथ ’ ने समकालीन विषयों को सहज संवादों में लोगों के दिलों तक पहुंचाया। पूरे कार्यक्रम का संगीत नेत्रहीन कलाकारों की मंडली ने दी। कंचन, अनंत और राजू के ग्रुप ने अपने धुनों से कार्यक्रम को संगीतमय बनाने के साथ-साथ दर्शकों के सामने एक आदर्श भी स्थापित किया।
कार्यक्रम में वरिष्ठ कथाकार चित्रा मुदगल, राजी सेठ, कवि पंकज सिंह, दार्शनिक प्रो. रिपुसूदन श्रीवास्तव, संस्कृति कर्मी अनिल जोशी, वरिष्ठ रंगकर्मी सलिम आरिफ, सांसद अर्जुन राय, प्रसिद्ध उद्योगपति सतेन्द्र कुमार जैन सहित कला- संस्कृति से कई जानी-मानी हस्तियां उपस्थित थीं।
संस्था के अध्यक्ष निर्मल वैद ने कहा कि 25 साल के इस सांस्कृतिक सफर में कला-संस्कृति को बेहतर तरीके से प्रमोट करने के लिए हमने नाटकों का सहारा लिया। नुक्कड़ नाटक से लेकर बच्चों के लिएथियेटर वर्क शॉपके आयोजन के माध्यम से परिधि आर्ट ग्रुप की शुरूआत हुई थी।

(दिल्ली से श्री अविनाश वाचस्पति की रपट )

3 टिप्पणियाँ:

Anonymous said... January 30, 2011 at 6:00 PM

अनिनाश वाचस्पति त्वरित रगट लगाने में माहिर हैं!
बढ़िया रगट लगाई है!

मनोज पाण्डेय said... January 30, 2011 at 9:35 PM

बहुत बढ़िया रपट, बधाईयाँ !

Dr. Zakir Ali Rajnish said... January 31, 2011 at 4:18 PM

लाजवाब रपट !

 
Top